Hindi Shayari

Spread The Love

मेरी चाहतें तुमसे…

मेरी चाहतें तुमसे अलग कब हैं, 
दिल की बातें तुमसे छुपी कब हैं । 

तुम साथ रहो दिल में धड़कन की जगह, 
फिर ज़िन्दगी को साँसों की ज़रुरत कब है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hindi Shayari © 2018 Frontier Theme